AICCTU

All India Central Council of Trade Unions

Web Page At: www.aicctu.org

बिहार में फिक्स्ड टर्म एंप्लॉयमेंट आदेश की प्रति को जलाया गया

मोदी सरकार द्वारा औद्योगिक नियोजन (स्थाई आदेश) अधिनियम 1946 में संशोधन कर फिक्स्ड टर्म एंप्लॉयमेंट का प्रावधान जोड़े जाने व नीतीश सरकार द्वारा औद्योगिक नियोजन नियमावली 1947 में संशोधन कर “फिक्स्ड टर्म एंप्लॉयमेंट“ को बिहार में तत्परता से लागू किए जाने के विरोध में तथा हड़ताली रसोईयों के आंदोलन व मांगो के समर्थन में 29 जनवरी को ऐक्टू के बैनर तले मज़दूरों ने फुलवारी शरीफ, बिहार में प्रदर्शन किया और स्थानीय भगत सिंह चैक पर फिक्स्ड टर्म एम्प्लॉयमेंट की प्रति को जलाया.

‘‘दिल्ली में प्रदूषण और जन-परिवहन का हाल, हर नागरिक का ज्वलंत सवाल’’ विषय पर परिचर्चा का आयोजन

दिल्ली के गांधी शांति प्रतिष्ठान में 19 जनवरी 2019 को “दिल्ली में प्रदूषण और जन-परिवहन का हाल, हर नागरिक का ज्वलंत सवाल“ विषय पर परिचर्चा आयोजित हुई.

परिचर्चा में भाग ले रहे प्रमुख विशेषज्ञ वक़्ता प्रोफ़ेसर दुनु रॉय, प्रोफ़ेसर गीतम तिवारी, प्रोफ़ेसर अनिता घई के साथ ही संतोष राय और कंवलप्रीत कौर ने पूरी परिचर्चा में इस महत्वपूर्ण मुद्दे को ना सिर्फ समझने में मदद की बल्कि इससे निकलने के संघर्ष में आम-जन की बृहत भूमिका को भी चिन्हित किया.

झारखंड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ का 6ठा राज्य सम्मेलन संपन्न

झारखण्ड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ का 6ठा राज्य सम्मेलन 21-22 दिसम्बर 2018 को रांची में सम्पन्न हुआ. राज्य सम्मेलन का उद्घाटन राजीव डिमरी, महासचिव, ऐक्टू ने किया. उद्घाटन सत्र को ऐक्टू के राज्य सचिव शुभेन्दु सेन, बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ (गोप गुट) के सम्मानित अध्यक्ष रामबली प्रसाद और महासचिव प्रेमचन्द कुमार सिन्हा ने संबोधित किया.

ऐक्टू, भागलपुर का 5वां जिला सम्मेलन संपन्न

केंद्र व राज्य सरकारों की मजदूर विरोधी नीतियों और ट्रेड यूनियन अधिकारों पर बढ़ते हमले के खिलाफ नियमित काम, बेहतर मजदूरी, सुरक्षा व सम्मान के सवाल पर 16 दिसम्बर को स्थानीय संयुक्त भवन परिसर, भागलपुर में ऐक्टू का 5वां जिला सम्मेलन जिला अध्यक्ष एस.के. शर्मा की अध्यक्षता में संपन्न हुआ. सम्मेलन स्थल का नाम का0 यमुना प्रसाद पोद्दार नगर, सभागार का नाम का0 जगदीश तांती व मंच का का0 सुखन तांती के नाम से रखा गया था. इस अवसर पर पूरे परिसर को लाल झंडों-बैनरों व मांग पट्टिकाओं से सुसज्जित किया गया था.

ऐक्टू, उड़ीसा का दूसरा राज्य सम्मेलन

ऐक्टू की उड़ीसा इकाई का दूसरा राज्य सम्मेलन भुवनेश्वर में 10 दिसंबर को नागभूषण भवन में संपन्न हुआ. ऐक्टू के महासचिव राजीव डिमरी ने सम्मेलन का उद्घाटन किया. उद्घाटन करते हुए उन्होंने मोदी सरकार के मजदूर वर्ग पर हमलों का विस्तार से जिक्र करते हुए 8-9 जनवरी की देशव्यापी हड़ताल को जोरदार ढंग से सफल करने का आहृान किया.

डाईकिन मजदूरों पर लाठीचार्ज

ऐक्टू, राजस्थान कमिटी की रिपोर्ट

दिनांक 8-9 जनवरी को देशव्यापी हड़ताल के पहले दिन नीमराना, राजस्थान में स्थित ‘जापानी जोन’ के अन्दर डाईकिन व अन्य कंपनियों के मजदूरों द्वारा एक जुलूस निकाला गया. प्रबंधन ने गुंडों और पुलिस की मदद से मजदूरों के ऊपर बर्बर हमला करवाया, जिसमें दर्जनों मजदूर घायल हो गए.

मजदूरों की दो दिवसीय ऐतिहासिक हड़ताल

ऐक्टू समेत देश की 10 केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने मिलकर 8-9 जनवरी 2019 को देशव्यापी हड़ताल का आहृान किया था. यह आहृान 28 सितंबर 2018 को दिल्ली में आयोजित मजदूर सम्मेलन में भाजपा नीत एनडीए सरकार की मजदूर-विरोधी, जन-विरोधी और देश-विरोधी नीतियों के खिलाफ किया गया था. भाजपा सरकार ट्रेड यूनियनों से कोई अर्थपूर्ण चर्चा नहीं कर रही थी और उसी वक्त मालिकों के पक्ष में एक के बाद एक निर्णय कर रही थी. इससे कामगार जनता की हालत असहनीय हो गई है.

फिक्स्ड टर्म इंप्लॉयमेंट को बिहार सरकार द्वारा लागू करने के खिलाफ बहिष्कार

फिक्स्ड टर्म इंप्लॉयमेंट को बिहार सरकार द्वारा लागू करने के लिए बुलाई गई बैठक का केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने संयुक्त रूप से बहिष्कार किया

मोदी सरकार द्वारा औद्योगिक नियोजन (स्थाई आदेश) अधिनियम 1946 में संशोधन करते हुए “नियत अवधि नियोजन“ (फिक्स्ड टर्म इंप्लॉयमेंट) का प्रावधान किया है.

बिहार की नितीश-भाजपा सरकार द्वारा फिक्स्ड टर्म इंप्लॉयमेंट को स्टैंडिंग आर्डर में शामिल करते हुए इसे बिहार राज्य में लागू करने के लिये बिहार औद्योगिक नियोजन (स्थाई आदेश) नियमावली 1947 में आवश्यक संशोधन के लिये श्रम संसाधन विभाग द्वारा श्रमायुक्त की अध्यक्षता में नियोजन भवन, पटना में 23 नवंबर